अब ओवैसी आया धर्मांतरण के आरोपी मौलाना कलीम सिद्दकि के समर्थन में

जनपद मुजफ्फरनगर के कचहरी स्थित डीएम कार्यालय पर ऑल इण्डिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के पदाधिकारी व दर्जनों कार्यकर्ता पहुंचे और बताया कि मौलाना कलीम, सिद्दीकी एक जाने माने मुस्लिम धर्म गुरु है।
मुजफ्फरनगर के ग्राम फूलत के निवासी है कलीम सिद्दीकी ने प्रसिद्ध इस्लामी शिक्षण संस्थान दारूल उलूम नदवातुल उलेमा लखनऊ से इस्लामिक शिक्षा एवं मेरठ कॉलेज मेरठ से बी०एस०सी० की शिक्षा प्राप्त करने के उपरान्त अपने ही जनपद मुजफ्फरनगर में मदरसे मे विद्यार्थीयों को इस्लामिक शिक्षा देने प्रारम्भ किया। उन्होंने हमेशा देश, देश के कानून, संविधान को सर्वपरिक रखा एवं हिन्दुस्तान के सभी जाति एवं धर्मो की हमेशा इज्जत की है एवं अपने विद्यार्थीयों को भी यही शिक्षा दी है। उनके द्वारा कभी भी किसी भी विशेष धर्म अथवा समुदाय के खिलाफ कोई विवादित / आपत्तिजनक ब्यान नहीं दिया गया है और न ही ऐसा कोई कार्य किया गया है जिससे देश की एकता और अखण्डता को खतरा हो । बीते मंगलवार को उप्र ATS ने उपरोक्त मौलाना कलीम सिद्दीकी पर अवैध धर्मान्तर के गिरोह में शामिल होने का आरोप लगाते हुए गिरफ्तार किया गया है एवं उनपर तरह तरह के अन्य व बेबुनियाद आरोप लगाकर विभिन्न मुकदमों में फसाने की कोशिश की जा रही है। यहां पर यह भी उल्लेख करना आवश्यक है कि किसी व्यक्ति विशेष द्वारा अवैध धर्मान्तरण के सम्बन्ध में कोई भी शिकायत मौलाना कलीम सिद्दीकी के खिलाफ नहीं की गयी है। अवैध धर्मान्तरण में मौलाना कलीम सिद्दीकी का कोई सरोकार नहीं है वह एक प्रतिष्ठित परिवार के स्वच्छ छवि वाले सम्मानित व्यक्ति है परन्तु उप्र ATS द्वारा राजनैतिक दबाव के कारण बिना किसी ठोस सबूत के एवं उन्हें सरकार के इशारे पर प्रताडित करने के उददेश्य से क़ानून के विरूद्ध गिरफ्तार किया गया है। जो कि किसी भी प्रकार से न्यायोचित नहीं है एवं उनके परिजनों को उनसे मिलने भी नहीं दिया जा रहा है।
महामहिम राज्यपाल जी से प्रार्थना है कि मौलाना कलीम सिद्दीकी को तत्काल रिहा करने की कृपा करे एवं दोषियों के खिलाफ़ कड़ी कार्यवाही करने की कृपा करे नही तो एमआईएम सड़को पर उतरकर धरने प्रदर्शन करेगा वही ज्ञापन देने वालो में दर्जनों एमआईएम कार्यकर्ता मौजूद रहे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here