आर्थिक संकट से जूझ रही है सरकारी कंपनी ‘पवनहंस’, कर्मचारियों को सैलरी देने तक के पैसे नहीं

161

BSNL, AIR INDIA और इंडिया पोस्ट के बाद अब हेलीकॉप्टर कंपनी पवन हंस भयंकर आर्थिक संकट से जूझ रही है। पवनहंस सरकारी कंपनी है।

हालत यह है कि कंपनी के पास अपने कर्मचारियों को सैलरी देने के लिए पैसे तक नहीं। कंपनी ने नोटिस जारी कर कहा कि वह अप्रैल महीने की सैलरी देने की हालत में नहीं है।

पवनहंस ने नोटिस में जाहिर किया कि 2018-19 में उसे करीब 89 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। कंपनी पर 230 करोड़ों रुपए का कर्ज भी है।

आगे कंपनी ने बताया कि, ‘कंपनी की ओवरऑल परफॉमेंस की समीक्षा करते हुए सामने आया है कि कंपनी असहज आर्थिक परिस्थिति से गुजर रही है। इंडस्ट्री का भविष्य भी तय नहीं है। आर्थिक परफॉमेंस के मामले में 2018-19 में कंपनी का रिवेन्यू तेजी से कम हुआ है और कंपनी को 89 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

अप्रैल की सैलरी स्थगित करने के बारे में कंपनी की ओर से निकाले गए सर्कुलर में साफ बताया गया है कि चूंकि कंपनी घाटे से जूझ रही है, इसलिए अप्रैल की सैलरी रोकी गई है। कंपनी पर 230 करोड़ रुपए के अलावा और भी कई देनदारियां बताई गई हैं। इससे आने वाले समय में कंपनी की हालत और खराब होने का डर है। कहा गया है कि कोशिश की जा रही है कि किसी तरह से फंड जुटाया जाए और कर्मचारियों की सैलरी देने के अलावा बाकी काम किए जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here