कड़ी सुरक्षा के बीच पहले मज़दूरों और छात्रों का स्वास्थ्य परीक्षण कर भेजा घर

58

मुजफ्फरनगर: एक बार फिर एडीएम प्रशासन अमित सिंह को मजदूरों व छात्रों ने अपने घर पहुंचने पर खुश होकर दी दुआएँ। विदित हो कि लॉक डाउन को लेकर मजदूर हो या स्टूडेंट्स सभी लॉक डाउन की वजह से जहां था वही रुका हुआ था।अब सरकार के द्वारा मजदूरों व छात्रों को उनके घरों तक पहुंचाया जा रहा हैं जो सरकार की एक अच्छी पहल भी कही जाएगी कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के चलते भरतपुर से करीब 19 मजदूरों को मुजफ्फरनगर परिवहन बसों के माध्यम से लाया गया तथा वही 5 अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के बच्चो को भी उनके परिजनों को पुलिस प्रशासन ने वहां से लाकर सौपा, तो आज सुबह भी करीब 62 मजदूरों को भी अलग अलग जनपदों से मुजफ्फरनगर लाया गया ओर उनके गाँव कस्बों तक पहुंचाया गया।

विदित हो कि अलग-अलग जिलों व प्रदेश में फंसे मजदूरों और छात्रों की घर वापसी शुरू हो गई है जिससे उनके परिजनों में खुशी नजर आ रही है। एडीएम प्रशासन अमित सिंह व थानां सिविल लाइन प्रभारी डी के त्यागी की कड़ी सुरक्षा के बीच पहले मजदूरों और छात्रों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।

परीक्षण उपरांत मजदूर व छात्रों को उनके गंतव्यों के लिए रवाना किया तथा उन्हें उनके घर पर ही 14 दिन के लिए क्वारन्टीन भी किया यह लोग पिछले एक महीने से ज्यादा अपने घरों से दूर प्रदेशो में तथा जिलों में फंसे हुए थे। मजदूरों ने बताया कि काम की तलाश में व अलग अलग जगह रोजगार के कारण गए हुए थे लेकिन वही लॉकडाउन लगने के कारण फंस गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here