कैट ने कहा दिवाली में चीन के निर्यातकों को 50 हजार करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान

नई दिल्ली। कारोबारी संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा कि उसके चाइनीज सामानों के बहिष्कार के आह्वान से दिवाली के दौरान चीनी निर्यातकों को 50 हजार करोड़ रुपये के नुकसान होने का अनुमान है। कैट को उम्मीद है कि इस त्योहारी सीजन दिवाली की बिक्री अवधि के दौरान उपभोक्ता लगभग दो लाख करोड़ रुपये खर्च कर सकते हैं।

कैट ने शुक्रवार को जारी बयान में कहा कि पिछले साल की तरह इस साल भी कारोबारी संगठन ने ‘चीनी सामानों के बहिष्कार’ का आह्वान किया है। कैट के मुताबिक निश्चित रूप से देश के व्यापारियों एवं आयातकों ने चीन से आयात बंद कर दिया है, जिससे चीन को लगभग 50 हजार करोड़ रुपये का व्यापार नुकसान होगा। कारोबारी संगठन ने कहा कि यह एक महत्वपूर्ण बदलाव है। पिछले साल से उपभोक्ता भी चीनी सामान खरीदने में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं, जिससे भारतीय सामान की मांग बढ़ने की पूरी संभावना है।

कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि संगठन की कैट रिसर्च एंड ट्रेड डेवलपमेंट सोसाइटी के 20 शहरों में किए गए हाल के एक सर्वेक्षण से पता चला है कि अब तक भारतीय व्यापारियों या आयातकों द्वारा चीनी निर्यातकों को दिवाली के सामान, पटाखों या अन्य वस्तुओं का कोई ऑर्डर नहीं दिया गया है। उन्होंने कहा कि इस साल दीवाली को “हिंदुस्तानी दिवाली” के रूप में मनाया जाएगा। खंडेलवाल ने कहा कि इस वर्ष राखी के दौरान चीन को करीब 5 हजार करोड़ रुपये और गणेश चतुर्थी में 500 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। सर्वेक्षण में शामिल 20 शहरों में नई दिल्ली, अहमदाबाद, मुंबई, नागपुर, जयपुर, लखनऊ, चंडीगढ़, रायपुर, भुवनेश्वर, कोलकाता, रांची, गुवाहाटी, पटना, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद, मदुरै, पुडुचेरी, भोपाल और जम्मू हैं।

खंडेलवाल ने कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के “मेक इन इंडिया” और “आत्मनिर्भर भारत” की दिशा में व्यापारिक समुदाय का एक मजबूत और ठोस योगदान है। उन्होंने बताया कि प्रमुख रिटेल सेक्टर जैसे एफएमसीजी सामान, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, खिलौने, कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रिकल अप्लायंसेज और किचन के सामान और एक्सेसरीज, गिफ्ट आइटम, पर्सनल कंज्यूमेबल्स, कन्फेक्शनरी आइटम, होम फर्निशिंग, टेपेस्ट्री, बर्तन, बिल्डर्स हार्डवेयर, फुटवियर, घड़ियां, फर्नीचर और फिक्सचर, वस्त्र, फैशन परिधान, कपड़ा, घर की सजावट के सामान, मिट्टी के दीयों सहित दिवाली पूजा के सामान, देवता, दीवार पर लटकने वाले हस्तशिल्प के सामान, वस्त्र, शुभ-लाभ,ओम जैसे सौभाग्य के प्रतीक, गृह सज्जा के लिए देवी लक्ष्मी तथा अन्य देवी देवताओं के बनाया गए भारतीय सामान को पर्याप्त मात्रा में स्टॉक कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here