कोरोना को लेकर मंत्री कपिलदेव ने किया अस्पताल का निरीक्षण

73

मुज़फ्फरनगर: दुनिया मे जहाँ कोरोना वॉयरस ने अपना कहर बरपा रखा है।तो वही हमारे देश मे भी अब इसका असर देखने को मिल रहा है।जहाँ देश मे कोरोना वॉयरस को महामारी घोषित कर दिया गया है ।तो वही उत्तर प्रदेश सरकार भी इस महामारी के चलते कोई भी कोताही नही बरतना चाहती है।जिसको लेकर बुधवार को राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल ने मुज़फ्फरनगर स्थित जिला अस्पताल का निरीक्षण कर कोरोना वॉयरस के मरीजों के लिए हर सुविधाओ की जाँच पड़ताल की साथ ही रोड पर पड़ने वाले कूडो के ढेर को लेकर शहर की सड़कों का भृमण किया और कूड़ा साफ कराने के निर्देश दिए।

राज्यमन्त्री कपिल देव अग्रवाल ने बताया कि आज यहां माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देश पर मुजफ्फरनगर डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में हमारा यहां पर आना हुआ है जो कोरोनावायरस महामारी का रूप ले चुका है अभी उत्तर प्रदेश में भी न्यूनतम स्तर पर है देशभर में भी न्यूनतम स्तर पर है पर फिर भी उससे निपटने के लिए हर प्रकार की तैयारी हमारी है और तैयारी के लिए जो यहां पर वार्ड बनाया गया है उसकी तैयारी यहां पर है 6 बेड यहां पर लगाए गए हैं 10 बेड हमारे मुजफ्फरनगर मेडिकल कॉलेज में है और बराबर में मेडिकल कॉलेज है वहां पर भी तैयारी है और किसी प्रकार की अगर कोई ईश्वर की कृपा रहेगी ऐसी हमें कोई आवश्यकता ना पड़े और आवश्यकता पड़ती है तो उसकी पूरी तैयारी यहां डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में है मैं यहां पर आया हूं जिला प्रशासन सीएमएस डीएम और प्रशासनिक अधिकारी यहां पर मौजूद है निश्चित रूप से बहुत अच्छी तैयारियां पर है फिर भी अगर कोई दिक्कत होगी तो उसका हम शक्ति से उस पर कार्यवाही करेंगे एक आपके माध्यम से मेरा निवेदन यह है कि माननीय मुख्यमंत्री जी ने स्कूल संस्थाएं कॉलेज बंद की है केवल जिनके एग्जाम है उनके एग्जाम रहेंगे बाकी लोगों को अभी स्कूल कॉलेज नहीं जाना है लेकिन इसके पीछे किसी भी प्रकार से भ्रमित होने की अफवाह फैलाने की या डरने की आवश्यकता नहीं है यह तैयारी प्रिकॉशन के लिए है इसलिए सैनिटाइजर से अपने हाथों को साबुन से हाथ धोए बार-बार हाथ धोए अपने हाथ आंखों पर ना लगाएं सावधानी रखें और मास्क के लिए भी बहुत तेजी से अफवाह चल रही है मास्क भी सब लोगों के लिए आवश्यक नहीं है मास्क केवल पेशेंट के लिए आवश्यक है या जो हॉस्पिटल में काम कर रहे हैं डॉक्टर नर्स है अन्य स्टाफ है उनके लिए यह आवश्यक है इसलिए इस प्रकार की अगर कोई ब्लैक मार्केटिंग इसके ऊपर की जाती है उसके खिलाफ भी कार्यवाही होगी जिलाधिकारी को सरकार का यह भी निर्देश है कि अगर सस्पेक्टेड कोई केस पाया जाता है तो तत्काल उसको सुविधा प्रोवाइड करें अगर वह नहीं आता है तो उसको उठा करके बकायदा उसका चेकअप करें और चेकअप करके उसका पूरा चेकअप करके 14 दिन तक अपनी कस्टडी में रखें उसके बाद ही उसको फ्री करें इसके अतिरिक्त कोई अफवाह फैला आएगा व्हाट्सएप पर एसएमएस पर किसी समाचार या किसी भी माध्यम से या कोई हंसी मजाक करता है या झूठी सूचना पुलिस और प्रशासन को देता है तो उसके लिए भी उसे खिलाफ कार्यवाही होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here