कोरोना संकट में अगर पैसों की हो ज़रूरत तो घर में रखे सोने पर SBI से बड़ी आसानी से लें लोन

454

मुज़फ़्फ़रनगर: कोरोना संकट में अगर नकदी की जरूरत पड़ जाए तो परेशान न हों। घर में रखा सोना इस मुश्किल घड़ी में आपके काम आ सकता है। देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने पर्सनल गोल्ड लोन ऑफर की सुविधा शुरू की है। इसके तहत ग्राहक 20 लाख रुपए तक के कर्ज का लाभ उठा सकता है। एसबीआई के अनुसार न्यूनतम कागजी कार्रवाई और कम ब्याज दरों के साथ बैंकों द्वारा बेचे गए सोने के सिक्कों सहित सोने के गहने गिरवी रखकर बैंक से गोल्ड लोन का लाभ उठाया जा सकता है। इस पर आपको सिर्फ 7.75 फीसदी सालाना ब्याज देना होगा जो पर्सनल लोन के मुकाबले काफी कम है।

कौन ले सकता है गोल्ड लोन?

18 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्ति एसबीआई से पर्सनल गोल्ड लोन के लिए आवेदन करने के पात्र हैं। व्यक्ति एकल या संयुक्त आधार पर आवेदन कर सकते हैं और उनके पास आय का एक स्थिर स्रोत होना चाहिए। आपको लोन के लिए आय का प्रमाण देने की आवश्यकता नहीं है।ब्याज दरSBI एक साल के गोल्ड लोन के लिए MCLR के ऊपर 0.75% का इंटरेस्ट रेट ऑफर करता है। बैंक की वेबसाइट के अनुसार, 15 मई 2019 से 15 जुलाई 2020 तक बैंक का एक साल का एमसीएलआर 7.25% है। इसका मतलब है कि एसबीआई पर्सनल गोल्ड लोन योजना के लिए ब्याज दर 7.75% है। एसबीआई गोल्ड लोन के लिए प्रोसेसिंग फीस के रूप में लोन राशि का 0.50% और न्यूनतम 500 रुपए (दोनों पर लागू जीएसटी) लेता है।

मिलेगा 20 लाख रुपए तक का लोन

अधिकतम 20 लाख रुपए के लिए लोन लिया जा सकता है। लोन की न्यूनतम राशि 20,000 रुपए है। SBI के पास विभिन्न योजनाओं के लिए अलग-अलग भुगतान अवधि है। गोल्ड लोन के मूलधन और ब्याज की अदायगी डिस्बर्समेंट के महीने से शुरू होगी। लिक्विड गोल्ड लोन के लिए लेन-देन की सुविधा और मासिक ब्याज के साथ ओवरड्राफ्ट खाता के हिसाब से तय की जाती है। बुलेट रिपेमेंट गोल्ड लोन स्कीम में लोन की अवधि से पहले या खाता बंद करने पर कर्ज अदायगी एकमुश्त हो सकती है। SBI गोल्ड और लिक्विड गोल्ड लोन दोनों की अधिकतम रिपेमेंट 36 महीने है, जबकि SBI बुलेट रिपेमेंट गोल्ड लोन की अवधि 12 महीने है।संपर्क करें-भारतीय स्टेट बैंक ब्रांच प्रकाश चौक कोर्ट रोड मुज़फ़्फ़रनगर ल।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here