चिटफंड घोटाला : कुछ ऐसे हुआ शुरू “ड्रामा”

109
ममता बनर्जी।

ये था सारा मामला….

कोलकाता: कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार ने 2013 में रोज वैली घोटाले और शारदा चिटफंड घोटाले की जांच करने वाली पश्चिम बंगाल पुलिस की एसआईटी टीम का नेतृत्व किया था। सीबीआई ने मामलों में राजीव कुमार और एसआईटी सदस्य रेलवे के इंस्पेक्टर जनरल तमल बासु, कोलकाता पुलिस के एडिशनल कमिश्नर विनीत कुमार गोयल और रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी पल्लब कांति घोष से पूछताछ के लिए बंगाल के डीजीपी को चिट्ठी भेजी थी। सीबीआई का कहना है कि एसआईटी जांच के दौरान कुछ लोगों को बचाने के लिए अहम सुबूतों के साथ छेड़छाड़ हुई या उन्हें गायब कर दिया गया। इसी सिलसिले में सीबीआई पश्चिम बंगाल कैडर के 1989 बैच के आईपीएस अधिकारी राजीव कुमार से पूछताछ करना चाहती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here