जिलाधिकारी ने कहा- कुपोषित बच्चों के परिवारों पर दिया जाएगा ध्यान

मुजफ्फरनगर। कलेक्ट्रेट स्थित लोकवाणी सभागार में बुधवार को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में राज्य पोषण मिशन के अंतर्गत अति कुपोषित बच्चों की देखभाल एवं बच्चों के प्रबंधन के लिए बैठक आहूत की गई, जिसमें जिला अधिकारी द्वारा ऐसे गरीब परिवार जिनमें कुपोषित बच्चे तथा अति कुपोषित बच्चे हैं उन्हें सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत अंत्योदय कार्ड और मनरेगा जॉब कार्ड का लाभ दिया जाएगा एवं ऐसे परिवारों की महिलाओं को स्वयं सहायता समूह से जोड़ा जाएगा, जिससे उनके परिवार में रोजगार उपलब्ध हो एवं उनकी आय में वृद्धि हो सके और वह अपने परिवार, कुपोषित बच्चे को पोषण से युक्त भोजन उपलब्ध करा सकें।
जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह ने निर्देश दिए गए कि कुपोषित बच्चों तथा अति कुपोषित बच्चों के परिवारों को गौशालाओं से दुधारू गाय उपलब्ध कराईं जाएं तथा जिला उद्यान अधिकारी द्वारा प्रत्येक परिवार में आंवला, सहजन आदि पौष्टिक फलों के पौधे भी लगवाए जाएं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. महावीर सिंह द्वारा समस्त प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि कुपोषित तथा अति कुपोषित बच्चों का टीकाकरण शत-प्रतिशत हो यह सुनिश्चित किया जाए। इस कार्य को संपन्न कराने के लिए खंड शिक्षा अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी एवं खंड विकास अधिकारी की अध्यक्षता में एक वर्किंग कमेटी बनाई जाएगी जिसमें अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं उप जिलाधिकारी को तहसील स्तर पर नोडल बनाया जाएगा।
बैठक में जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत जिला स्वास्थ्य समिति के साथ भी चर्चा की, जिसमें जिलाधिकारी द्वारा ओपीडी, एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड के बारे में विश्लेषण किया गया एवं प्रत्येक चिकित्सक को अपने संबंधित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र (पीएचसी) के वार्ड में भ्रमण करने के लिए निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने जिला अस्पताल को मॉडर्न अस्पताल बनाने का प्रस्ताव रखा।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here