झारखंड के गुमला में एक और डायन-बिसाही कहकर चार बुजुर्गों की लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्‍या, जानें पूरा मामला

झारखंड के गुमला में एक बार फिर इंसानियत शर्मसार हुई है गुमला जिले के सिसई थाना क्षेत्र स्थित नगर पिचकारी गांव में चार बुजुर्गों की बड़ी बेरहमी से लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई, वहीँ बताया जा रहा है कि इस घटना को अज्ञात लोगों ने अंजाम दिया है और आशंका जताई जा रही है कि, डायन और बिसाही के आरोप में बुजुर्गों की जानें ली गई हैं.

मरने वाले बुजुर्गों में दो महिला और दो पुरुष शामिल हैं. ’62 वर्षीय चांपा उरांव’ उसकी ’60 वर्षीय पत्नी फीरी उरांव’ के अलावा ‘सुना उराँव उम्र 65 वर्ष’ और ‘फगनी देवी उम्र 62 वर्ष’ शामिल हैं प्राप्त जानकारी के अनुसार डायन के संदेह में बीती रात करीब एक बजे 10 से 12 लोगों ने चांपा उरांव के घर पर हमला बोल दिया और एक-एक कर चारों को गांव के ही चबूतरा सह अखाड़ा’ पर ले आए और हत्‍या कर दी.

वहीँ इस घटना की जानकारी मिलने पर झारखंड पुलिस’ के एसपी अंजनी कुमार झा, इंस्‍पेक्टर बैजु उराँव, एसडीपीओ-SDPO बसीया दीपक कुमार और सिसई थाना प्रभारी सुधीर प्रसाद साहु मौके पर पहुंचे हैं और फिलहाल शवों को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेज दिया है, और अपराधियों को पकड़ने के लिए तलाश तेज कर दी गई है.

मृतक करते थे झाड़-फूंक का काम
बताया यह भी जा रहा है कि, सभी मृतक ओझा थे और झाड़-फूंक का काम किया करते थे और इसी के आधार पर उन्‍हें डायन और बिसाही मानकर मौत के घाट उतार दिया गया, हालांकि बताया जा रहा है कि, घटना के बाद सुबह ही घटनास्‍थल के पास बम-पटाखे फोड़े जाने की भी आवाजें सुनी गईं और ऐसे में आपसी रंजिश और साजिशन हत्‍या का मामला भी लग रहा है साथ ही पुलिस सभी एंगल से जांच कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here