दीवाली व धनतेरस पर हालमार्क स्वर्ण वाले आभूषण ही खरीदें

लखनऊ। अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष व भारत सरकार द्वारा स्वर्ण आभूषण को अनिवार्य हालमार्किंग करने के लिए गठित सलाहकार समिति के सदस्य प्रदीप बंसल ने बताया कि दीवाली व धनतेरस पर स्वर्ण आभूषण खरीदते समय हालमार्क वाले आभूषण ही खरीदें। इसकी पहचान करने के लिये छह अंकों की एचयूआईडी अंकित होना जरूरी है। इस एचयूआईडी के होने से किस जोहरी ने इसे हॉलमार्क कराया है तथा किस हॉलमार्क केंद्र ने इसे हॉलमार्क किया है,इसकी जानकारी उपलब्ध होती है। इससे ग्राहक को शुद्धता की गारंटी मिलती है। उन्होंने बताया भारत सरकार ने देश के 256 जिलों में स्वर्ण आभूषण को हालमार्किंग कराकर बेचना अनिवार्य किया है।

ग्राहक शुद्धता में कमी की शंका होने पर भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा पंजीकृत हालमार्किंग केंद्र पर जांच करा सकता है। शुद्धता में कमी की शिकायत करने के लिए बिल अवश्य लेना चाहिए। शुद्धता में कमी पाये जाने पर ग्राहक कीमत का दोगुना हर्जाना पाने का हकदार है।

प्रदीप बंसल ने बताया कि हालमार्क के चार्जेज 35 रुपये प्रति आभूषण होते हैं, प्रति ग्राम नहीं, जिनका बिल पर लिखा होना जरूरी है। उन्होंने बताया कि नग वाले आभूषण खरीदते समय बिल पर सोना व नग का वजन अलग-अलग लिखवाकर अवश्य लें। हॉलमार्क स्वर्ण आभूषण भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा पंजीकृत जौहरी से ही खरीदें जिसकी सूची भारतीय मानक ब्यूरो की वेबसाईट www.manakonline.in पर देखी जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here