पिछली सरकारों में उपेक्षित रहे पर्यटन स्थलों का हुआ अद्भुत विकास : डॉ. नीलकंठ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पर्यटन मंत्री डॉ.नीलकंठ तिवारी ने शुक्रवार को यहां लोकभवन में राज्य सरकार की साढ़े चार वर्षो में पर्यटन के क्षेत्र में हुई उपलब्धियों का ब्यौरा रखा। कहाकि पिछली सरकारों में उपेक्षित रहे पर्यटन स्थलों का योगी सरकार में अद्भुत विकास हुआ है।

पर्यटन मंत्री ने कहा कि भाजपा के संकल्प पत्र में किया गया वादा पूरा किया गया है। 2017 के पहले अयोध्या के विकास को लेकर कोई चर्चा नहीं होती थी। सरकारें अयोध्या से दूरी बनाकर रखती थीं। भाजपा सरकार आने के बाद से अयोध्या का उत्तरोत्तर विकास हो रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में अयोध्या में दीपोत्सव शुरू किया गया। अयोध्या में हर बार एक नया रिकॉर्ड बन रहा है।

कहाकि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश के सभी क्षेत्रों में दिन-प्रतिदिन नया कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। उत्तर प्रदेश असीम क्षमता वाला प्रदेश है। नई-नई ऊंचाइयों को छू रहा है। नया कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। बढ़ते और बदलते उत्तर प्रदेश में पर्यटन विभाग ने भी पर्यटन संवर्धन एवं जागरण के लिए काफी काम किया गया है। 2017 के बाद से ही पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अभूतपूर्व कार्य किए गए।

कहाकि कोरोना काल में प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पर्यटन को बढ़ावा दिया गया है। उत्तर प्रदेश में सबसे सुंदर सत्ता चलाने के लिए राम राज्य की कल्पना की गई। अयोध्या, नैमिष, काशी, ब्रज, चित्रकूट समेत अन्य स्थानों, प्रयागराज में भारद्वाज आश्रम है। यह क्षेत्र यहीं विराजमान हैं।

पर्यटन मंत्री ने कहा कि 2017 के पहले इन स्थलों की कोई चर्चा ही नहीं करता था जबकि यह स्थल देसी और विदेशी पर्यटक अपनी जिज्ञासा को शांत और ज्ञान प्राप्त करने के लिए आते हैं, लेकिन अब स्थिति बदल चुकी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नेतृत्व में सभी स्थलों का विकास हो, पर्यटकों के लिए आधारभूत व्यवस्था और भयमुक्त वातावरण भी हो, इस पर भी काम किया जा रहा है। आज बदलाव हुआ है।

राज्य सरकार ने रामायण सर्किट समेत 13 सर्किट लेकर आई है। प्रदेश के हर जिले में पर्यटन स्थल हैं। तीर्थ हैं। इस पर किसी सरकार ने काम नहीं किया। आज प्रदेश के सभी तीर्थ स्थलों को विभिन्न योजनाओं से जोड़ा गया है। प्रदेश के प्रत्येक जिले में पर्यटन का केन्द्र है, लेकिन पिछली सरकारों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए ‘मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्धन’ योजना को लागू किया गया है। इसके तहत यूपी के प्रत्येक विधानसभा में कार्य चल रहा है। जिसका अक्टूबर माह में एक साथ लोकार्पण किया जायेगा।

बताया कि सिर्फ ब्रज क्षेत्र में 106 स्थलों पर कार्य चल रहा है। आज ब्रज क्षेत्र का स्वरूप बदल चुका है। चित्रकूट, मथुरा तथा विन्ध्यांचल में रोप-वे का संचालन हो चुका है। कहाकि आज चित्रकूट धाम आज जगमग कर रहा है। काशी के पर्यटन की जितनी भी संभावनाएं दिख रही थीं, उन सब पर कार्य किया जा रहा है। नरेन्द्र मोदी के वाराणसी से सांसद और देश का प्रधानमंत्री बनने के बाद से काशी का विकास तेजी से चल रहा है। महाराजा सुहेलदेव के स्थल का बहराइच में विकास किया जा रहा है। सुहेलदेव की लोग चर्चा जरूर किया जाता था लेकिन धरातल पर काम नहीं किया गया था। काशी में तीन क्रूज चल रहे हैं। जल्द ही अयोध्या में क्रूज चलेगा। इस पर हम तेजी से काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश देसी पर्यटकों को आकर्षित करने में पहला राज्य है। अयोध्या में भव्य दीपोत्सव का आयोजन किया गया है, जिससे नई पीढ़ी को जोड़ा गया है। प्रति वर्ष 10 हजार से अधिक छात्र दीपोत्सव के आयोजन से जुड़ते हैं। इस वर्ष भी ‘साढ़े सात लाख’ दिए जलाये जाएंगे। इस बार भी हम अपने ही रिकार्ड को तोड़ने जा रहे हैं। देव दिवाली भी महत्वपूर्ण है। मथुरा में रंगोत्सव आयोजित किया जा रहा है।

कहाकि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर प्रदेश के एक-एक व्यक्ति से जोड़ने के लिए निरंतर प्रयास किया जा रहा है। अब हम उत्तर प्रदेश दिवस भी मना रहे हैं। 24 जनवरी को भव्य कार्यक्रम आयोजित कर राज्य के कला एवं हुनर को सामने लाने का काम किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here