प्रधानमंत्री मोदी ने पार्टी व राष्ट्र निर्माण के लिए जीवन समर्पित करने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं की सराहना की

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं की प्रशंसा करते हुए कहा कि पार्टी को जनता के आशीर्वाद से अनेक राज्यों और केंद्र में सेवा करने का मौका मिला है। लोगों का यह विश्वास पार्टी कार्यकर्ताओं की कई पीढ़ियों की शानदार भूमिका के कारण संभव हुआ है, जिन्होंने पार्टी और राष्ट्र निर्माण के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया।

प्रधानमंत्री मोदी ने नमो ऐप के ‘कमल पुष्प’ खंड के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि यह जनसंघ के दिनों से लेकर वर्तमान के प्रेरक पार्टी कार्यकर्ताओं के बारे में जानकारी देता है। प्रधानमंत्री ने इस संबंध में जनसंघ के सह-संस्थापक पंडित देवेंद्र शास्त्री और कर्नाटक से पार्टी सांसद रहे मल्लिकार्जुनैया की जानकारी साझा की। उन्होंने लोगों से ऐप के ‘कमल पुष्प’ खंड में अपना योगदान देकर इसे और समृद्ध बनाने का आह्वान किया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, लोगों के आशीर्वाद से भाजपा को कई राज्यों और केंद्र में सेवा करने का मौका मिला है। लोगों के इस भरोसे के पीछे एक प्रमुख कारण कार्यकर्ताओं की पीढ़ियों द्वारा निभाई गई तारकीय भूमिका है, जिन्होंने पार्टी और राष्ट्र निर्माण के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया है।

उन्होंने कहा, नमो ऐप में ‘कमल पुष्प’ के नाम से जाना जाने वाला एक बहुत ही दिलचस्प खंड है जो आपको जनसंघ के दिनों से लेकर वर्तमान तक प्रेरक पार्टी कार्यकर्ताओं के बारे में साझा करने और जानने का अवसर देता है, जिन्होंने हमारी विचारधारा को लोकप्रिय बनाने के लिए कड़ी मेहनत की। इस खंड में अपना योगदान दें और इसे समृद्ध करें।

प्रधानमंत्री ने एक अन्य ट्वीट में जनसंघ के सह-संस्थापक पंडित देवेंद्र शास्त्री के संबंध में कमल पुष्प पर उल्लेखित जानकारी साझा करते हुए उनके बारे में और जानने का आह्वान किया। उन्होंने कहा, उत्तराखंड के स्वतंत्रता सेनानी पंडित देवेंद्र शास्त्री जी जीवन भर राजनीति के प्रतीक रहे। नमो ऐप के कमल पुष्प मॉड्यूल पर इस नि:स्वार्थ आत्मा के बारे में और जानें।

उल्लेखनीय है कि जनसंघ के सह-संस्थापक देवेंद्र शास्त्री 1953 के कश्मीर बचाओ आंदोलन में भाग लेने के कारण तीन महीने बिजनौर, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में कैद में रहे। 1977 में आपातकाल के बाद वह देहरादून से विधानसभा के सदस्य के रूप में चुने गए। साथ ही उन्हें उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी का उपाध्यक्ष और उत्तरांचल प्रदेश संघर्ष समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया। बाद में वे उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य भी बने। पंडित देवेंद्र शास्त्री जीवन भर अपनी नि:स्वार्थ सेवा और राष्ट्रवाद के लिए जाने जाते थे।

प्रधानमंत्री ने एक अन्य ट्वीट में कहा, कर्नाटक में भाजपा को लोकप्रिय बनाने के लिए मल्लिकार्जुनैया ने अपना सारा जीवन नि:स्वार्थ परिश्रम से लगा दिया। नमो ऐप के कमल पुष्प मॉड्यूल पर इस प्रेरक भाजपा कार्यकर्ता के बारे में अधिक जानने के लिए पढ़ें।

उल्लेखनीय है कि 1951-1999 तक पार्टी में सक्रिय रहे मल्लिकार्जुनैया आपातकाल घोषित होने से पहले भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष भी रहे थे। वे तुमकुर लोकसभा क्षेत्र से 1991, 1998 और 2004 में भाजपा सांसद रहे। वे 10वीं लोकसभा के उपाध्यक्ष भी रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here