बजट 2019 : बज़ट 2019 में किसको क्या मिला, एक क्लिक में जानिए पुरे बज़ट का असली सच!

144

बजट 2019 पेश करने के साथ ही वित्त मंत्री निर्मला सीता’रमण ने भारती’य राज’नीतिक इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ दि’या। देश की पहली महिला वित्त मंत्री निर्मला सीता’रमण ने एक ओर पुरानी परंपरा तोड़’ते हुए ब्रीफकेस की जगह फोल्डर में बजट लेकर आईं तो दूसरी ओर बजट में गरीब वर्ग को कई तोहफे भी दिए तो आइए बिना देरी किये जानते हैं कि, मोदी सरकार के दूस’रे कार्य’काल के पहले बजट में किस’के लिए क्या-क्या रखा गया है!

किसान के लिए…

10 हजार नए किसान उत्पादक संगठनों का अगले 5 साल में निर्मा’ण किया जाए’गा।
जीरो बज’ट खेती पर जोर दिया जाए’गा। खेती के बुनियादी तरीकों पर लौट’ना इसका उद्देश्य है। इसी से किसा’नों की आय दोगु’नी करने का लक्ष्य पू’रा होगा।
खाद्यानों, दलहनों, तिलहनों, फलों और सब्जि’यों की स्व-पर्याप्तता और निर्यात पर विशे’ष रूप से जोर दिया ग’या है।

महिला युवा के लिए…

नारी तू नारायणी योजना लॉन्च होगी और एक कमेटी बनेगी जो देश के विकास और ग्रामीण अर्थव्यवस्था में महिलाओं की भागीदारी बढ़ा’ने पर सुझा’व रखे’गी।
जनधन बैंक खा’ता रखने वाली महिला’ओं को 5000 रुपए के ओवर ड्राफ्ट की सुविधा भी मिले’गी।
सेल्फ हेल्प ग्रुप में काम करने वाली किसी एक महिला को मुद्रा स्कीम के तहत 1 लाख रुपए का कर्ज भी मिल सकेगा।

उद्योग के लिए…

हवाई क्षेत्र, मीडिया, एनिमेशन, बीमा क्षेत्र में एफडीआई-FDI बढ़ाने की संभावनाएं खो’जी जाएंगी।
मध्यवर्ती बीमा संस्थाओं में 100% एफडीआई-FDI की इजाजत।
रिटेल सेक्टर को बढ़ा’वा। सिंगल ब्रांड रिटे’ल में निवेश मानक आसा’न किए जाएंगे।
स्टार्टअप्स के लिए एक्सक्लूसिव टी’वी चैन’ल शुरू होगा, स्फूर्ति और एस्पायर योजनाओं का विस्ता’र होगा।
एमएसएमई-MSME के लिए 350 करोड़ रुपए का आवं’टन। इसके लिए ऑनला’इन पोर्टल भी शुरू होगा।
शेयर बाजार में लिस्टे’ड कंपनियों में न्यूनतम सरकारी शेयर’धारिता 25% से बढ़ाकर 35% करने का प्रस्ता’व।
भारत के सृजनात्मक उद्योगों को अर्थव्यवस्था से जो’ड़ा जाएगा। उनकी बौद्धिक संपदा संरक्षि’त कर उन्हें अंतरराष्ट्रीय बाजा’र तक पहुंच दी जाए’गी।

शिक्षा के लिए…

शिक्षा व्यवस्था को बदलने के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति बनाई जाए’गी और 400 करोड़ रु. से विश्व स्तरीय संस्थान बनाए जाएंगे।
नेशनल रिसर्च फाउंडे’शन बनाने का प्रस्ता’व। इसके जरिए विभा’गों के झगड़े सुलझाए जा’एंगे। राष्ट्रीय हित की रि’सर्च को प्राथमिक’ता दी जाए’गी।
राष्ट्रीय हित के रिसर्च को प्राथ’मिकता दी जाए’गी।

व्यापारी के लिए…

प्रधानमंत्री कर्म’योगी मान’धन योजना से 1.5 करो’ड़ रु. से कम कारोबार वाले खुदरा व्यापारियों को पेंशन लाभ।
सभी दुकान’दारों को 59 मिनट में लोन। 3 करोड़ छोटे दुकान’दारों को फाय’दा।
शेयर बाजा’र में लिस्टेड कंपनियों में न्यूनतम सरकारी शेयर’धारिता 25% से बढ़ा’कर 35% करने का प्रस्ता’व।
पीपीपी-PPP के जरिए जुटा’ए गए निवेश से रेलवे का तेज विका’स और पैसेंजर फ्रेट सर्विस शुरू होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here