बड़े शहरों की तुलना में टियर 2 शहरों में बढ़ रही कीमती धातुओं की मांग

नयी दिल्ली। त्योहारों के इस सीजन में कीमती धातुओं की मांग में तिमाही आधार पर 20 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गयी है, जिसमें सोने की मांग चांदी की तुलना में तीन गुना अधिक रही और अब बड़े शहरों की तुलना में टियर 2 शहरों में कीमती धातुओं की मांग अधिक रही है।
अगस्त 2020 में सोने की कीमतें अपने चरम पर पहुंचने के बाद गिरीं और त्योहारों के इस सीजन लोकल सर्च इंजन जस्ट डायल पर इस कीमती धातु की सर्च सबसे ज़्यादा की जा रही है। जस्ट डायल की कन्ज़्यूमर इनसाइट रिपोर्ट में यह तथ्य सामने आया है। सोने की मांग चांदी की तुलना में तीन गुना अधिक है वहीं चांदी की मांग में तिमाही आधार पर 30 फीसदी की वृद्धि हुयी है। इस दौरान सोने और हीरे की मांग में 18 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।
रिपोर्ट के अनुसार टियर-2 शहरों में सोने, चांदी और हीरे की मांग बड़े शहरों की तुलना में अधिक है। सोने की बात करें तो टियर-2 शहरों में मांग में 24 फीसदी बढ़ोतरी हुई है जबकि बड़े शहरों में 22 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। चांदी के मामलों में टियर-2 शहरों में 40 फीसदी बढ़ोतरी हुई है जबकि बड़े शहरों में यह 20 फीसदी ही बढ़ी है। वहीं, हीरे की मांग बड़े शहरों में 14 फीसदी बढ़ी जबकि टियर-2 शहरों में इसकी मांग 38 फीसदी से अधिक बढ़ी है।
सोने की बात करें तो बड़े शहरों में मुंबई, दिल्ली और हैदराबाद टॉप 3 शहर रहें जहां इस धातु के बारे में सबसे अधिक सर्च किया गया है। इसके बाद बेंगलुरू, चेन्नई, कोलकाता, पुणे और अहमदाबाद में सबसे ज़्यादा सर्च किया गया है। दूसरे स्तर के शहरों में लखनऊ, जयपुर और कोयम्बटूर शीर्ष तीन शहर हैं जहां सबसे ज्यादा मांग रही। इसके बाद विजयवाड़ा, सूरत, राजकोट, विशाखापतनम, पटना, चंडीगढ़ और त्रिसुर में सबसे अधिक सर्च किया गया है। सोने की सबसे ज्यादा मांग आभूषणों, सिक्कों और बार के रूप में बनी हुई है।
चांदी की बात करें तो दिल्ली, हैदराबाद और बेंगलुरु शीर्ष तीन शहर हैं, जहां सबसे अधिक मांग रही। इसके बाद मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, अहमदाबाद और पुणे में इसकी मांग सबसे ज़्यादा रही। टियर दो शहरों में जयपुर, विजयवाड़ा और कोयम्बटूर में मांग सबसे अधिक रही। इसके बाद राजकोट, आगरा, कोल्हापुर, चंडीगढ़, विशाखापतनम, सलेम और सूरत में सबसे ज्यादा मांग दर्ज की गई। चांदी में ज्वैलरी सेट, सिक्के, सजावटी आइटम और डिनर सेट की मांग सबसे अधिक रही।
हीरे की बात करें तो पहले स्तर के शहरों में मुंबई, दिल्ली और चेन्नई में सबसे ज़्यादा मांग रही। इसके बाद हैदराबाद, अहमदाबाद, कोलकाता, बेंगलुरु और पुणे में भी अधिक मांग दर्ज की गई। छोटे शहराें में हीरों के पारम्परिक हब सूरत में सबसे अधिक मांग दर्ज की गई। इसके बाद लखनऊ और भोपाल में मांग अधिक रही। जयपुर, कोयम्बटूर, चंडीगढ़, वाराणसी, वड़ोदरा, इंदौर और कानपुर शीर्ष दस शहर रहे, जहां सबसे ज़्यादा मांग दर्ज की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here