बांग्लादेश में हिंदुओं पर हमले के विरोध में अनूठा प्रदर्शन

झांसी। बांग्लादेश में हिंदू धर्म स्थलों, पूजा पंडालों को जिहादियों द्वारा तहस-नहस करने तथा हिंदू परिवारों पर लगातार आक्रमण किए जाने के विरोध में इस्कॉन तथा अन्य हिंदू संगठनों द्वारा शनिवार को अनूठा विरोध प्रदर्शन किया गया।

विश्व स्तरीय इस प्रदर्शन के चलते झांसी में विरोध स्वरूप हरिनाम संकीर्तन यात्रा इस्कॉन मंदिर से मिनर्वा चौराहा होते हुए वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई के ऐतिहासिक दुर्ग पहुंची। वहां से से रानी लक्ष्मीबाई पार्क पहुंच कर वीरांगना महारानी की प्रतिमा के समक्ष पुष्पांजलि दी गई।

बांग्लादेश में पिछले 10 दिनों में हिंदू धार्मिक स्थानों तथा हिंदू परिवारों पर जिहादियों द्वारा लगातार हमले किए जा रहे हैं। इसके विरोध में हिंदू समाज में आक्रोश फैलता जा रहा है। बांग्लादेश में जिहादियों द्वारा इस्कॉन जैसे कई मंदिरों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। मूर्तियों को तोड़ दिया गया तथा देवी के पंडालों को आग लगा दी गई। इतना ही नहीं, हिंदू परिवारों पर भी अत्याचार किए जा रहे हैं। बांग्लादेश की इस स्थिति के विरोध में जिहादियों को सद्बुद्धि दिए जाने की प्रार्थना के साथ अंतरराष्ट्रीय श्रीकृष्ण भावना मृत संघ द्वारा वैश्विक स्तर पर विरोध करने के लिए शनिवार संकीर्तन करते हुए प्रदर्शन किया गया।

झांसी के इस्कॉन मंदिर से संकीर्तन प्रदर्शन शुरू हुआ, जिसमें हिंदू संगठनों के अलावा भक्तों ने कीर्तन करते हुए सड़क पर पैदल मार्च किया। यह वैश्विक कीर्तन प्रदर्शन मंदिर से शुरू होकर किला रोड पर होते हुए महारानी लक्ष्मीबाई के ऐतिहासिक किले,पण्डित दीनदयाल सभागार होते हुए महारानी लक्ष्मीबाई पार्क पहुंचा। वहां वीरांगना की प्रतिमा के समक्ष सभी ने पुष्पांजलि अर्पित कर इस वैश्विक कीर्तन प्रदर्शन का समापन किया।

इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के नगर विधायक रवि शर्मा, इस्कॉन मंदिर के महंत अभय चरण प्रभु, महामुनी प्रभु, अतुल चैतन्यदास, गौरव गंगोटिया, समाजसेवी व इस्कान मंदिर के चरण सेवक पंडित पीयूष रावत, नित्य मुकुंद प्रभु सहित बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल रहीं। अंत में पंडित पियूष रावत ने सभी का आभार व्यक्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here