बुजुर्ग प्रोफेसर दंपत्ति ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

नई दिल्ली। दक्षिणी पूर्वी जिले के गोविंद पुरी थाना क्षेत्र में रहने वाले दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के बुजुर्ग प्रोफेसर दंपत्ति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की जानकारी मंगलवार दोपहर करीब 3:45 बजे पुलिस को मिली थी। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और राकेश कुमार जैन (74) और उनकी पत्नी उषा राकेश कुमार जैन (69) को फांसी के फंदे से नीचे उतारा। उनकी सांसे थम चुकी थी। पुलिस की टीम दोनों को पास अस्पताल में लेकर गई, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

दक्षिणी पूर्वी जिला पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि घटना की जानकारी दंपत्ति की बेटी अंकिता (47) ने दी थी, जोकि ग्रेटर कैलाश पार्ट-1 में रहती हैं। पुलिस ने बताया कि घटनास्थल से दो अलग-अलग सुसाइड नोट मिले हैं, जिसमें लिखा है कि दोनों करीब एक साल पहले सड़क पर गांव जाते वक्त हादसे का शिकार हो गए थे। हादसे में उनके शरीर की कई हड्डियां टूट गई थी। उनमें दर्द होने से दोनों काफी परेशान थे। माना जा रहा है कि इस कारण दोनों ने यह कदम उठाया। गोविंद पुरी थाना पुलिस ने सुसाइड नोट को कब्जे में ले लिया है। पुलिस ने एम्स मोर्चरी से बुधवार को दोनों के शव का पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया गया।

अधिकारी ने बताया कि राकेश कुमार जैन और उनकी पत्नी उषा राकेश कुमार जैन डीयू के शहीद भगत सिंह कालेज और मैत्री कालेज में प्रोफेसर थे। दोनों पाकेट-9, कालका जी एक्सटेंशन में रहते थे। उनका देखभाल बाल्मिकी मोहल्ला में रहने वाला अजीत करता था। अजीत ने उनकी बेटी अंकिता को फोन कर मंगलवार दोपहर करीब 2:30 बजे बताया कि बुजुर्ग दंपति दरवाजा नहीं खोल रहे हैं। जानकारी मिलने के बाद अंकिता अपने माता-पिता के घर पर पहुंची। दरवाजा अंदर से बंद था। अंकिता के कहने पर अजीत ने दरवाजा का तोला तोड़ दिया और वे दोनों अंदर गए तो हैरान रह गए।

राकेश और उनकी पत्नी फांसी के फंदे पर लटके हुए थे। इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस के अलावा क्राइम की टीम भी मौके पर पहुंची। टीम को मौके टेबल पर रखे से दो अलग-अलग सुसाइड नोट मिला, जिसमें लिखा गया था कि वह बीते एक साल पहले उत्तर प्रदेश के गोंडा स्थित अपने गांव जब जा रहे थे।

उस वक्त हादसे का शिकार हो गए थे। उनके शरीर की कई हड्डियां टूट गई थी। दर्द सहन नहीं होता। पुलिस ने बताया कि दोनों के शव को एम्स मोर्चरी में मंगलवार को रखवा दिया गया था। चिकित्सकों ने बुधवार को शव का पोस्टमार्टम कर दिया, जिसके बाद परिजनों को सौंप दिया गया है। फिलहाल पुलिस सुसाइड नोट को कब्जे में लेकर आगे की कार्रवाई कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here