बुलंदशहर में कोरोना काल में सेवा देने वाले एम्बुलेंसकर्मी सम्मानित

बुलंदशहर। जनपद में कोरोना काल में निःशुल्क एम्बुलेंस सेवा लोगों के लिए वरदान साबित हुई। एम्बुलेंस कर्मियों ने दिन रात कोरोना प्रभावितों की मदद की। उन्हें घर से अस्पताल और अस्पताल से घर पहुंचाया। इस दौरान एम्बुलेंस कर्मियों ने बिना छुट्टी लिए अपने कार्यों को जज्बे के साथ पूरा किया। उनका कार्य सराहनीय है। यह बात शुक्रवार को अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. पीपी सिंह ने एम्बुलेंस कर्मियों के सम्मान समारोह में कही। शुक्रवार को एम्बुलेंस कर्मियों और इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन (ईएमटी) को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। सम्मान मिलने से एम्बुलेंस कर्मियों व ईएमटी का उत्साह वर्धन हुआ है। 
जिला अस्पताल सभागार में एम्बुलेंस कर्मियों के सम्मान में समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें एम्बुलेंस चालक व ईएमटी को उनके सराहनीय कार्यों के लिए प्रमाण पत्र दिये गये। एम्बुलेंस चालक गौरव कुमार ने बताया उन्होंने कोरोना काल में बिना छुट्टी लिए दिन-रात कोरोना प्रभावितों को अस्पताल में भर्ती कराया।
एम्बुलेंस टीम के रीजनल मैनेजर सोनू कुमार ने बताया जनपद में 84 ऑक्सीजन युक्त एम्बुलेंस, पांच एडवांस लाइफ सपोर्ट ( एएलएस) एम्बुलेंस हैं। कोरोना काल में 25 एम्बुलेंस को कोरोना के लिए आरक्षित किया गया, जिनके चालक व ईएमटी ने अपनी जान की परवाह किए बिना कोरोना के मरीजों को एल-1,एल 2 अस्पताल में भर्ती कराया।

एम्बुलेंस के जिला प्रभारी अंशु गोयल ने बताया उन्होंने कोरोना काल में एम्बुलेंस की टीम के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य किया। जहां पर जरूरत थी, वहां एम्बुलेंस को तुरंत उपलब्ध कराया गया। आयोजित कार्यक्रम में जनपद के ईएमटी व एम्बुलेंस स्टाफ गौरव, अरविंद, जय किशन, सोमपाल, अमरचंद्र, अमित कुमार, सतेंद्र, रामटेक, दिनेश, राजेश, शैलेश, सोनू कुमार आदि को सम्मानित करते हुए प्रमाण-पत्र दिये गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here