बूढा दिखाने वाला Face App इस्तेमाल कर रहे है तो हो जायें सावधान, क्योंकि मंडरा रहा है आपके डाटा पर खतरा

दिल्ली : इन दिनों सोशल मीडिया पर बूढ़ा कर देने वाली FaceApp सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बनी हुई है। अपने भी देखा होगा बड़े बड़े सिलेब्रिटीज़ से लेकर आम यूजर तक हर कोई इस एप का इस्तेमाल कर अपने बुढ़ापे की तस्वीर को देख रहा है और उसे सोशल मीडिया पर खूब शेयर कर रहा है। सीनियर डिवैल्पर्स का मनना है कि, यह एप यूजर्स के स्मार्टफोन द्वारा क्लिक की गई सभी फोटोज़ को अपने सर्वर पर अपलोड कर देती है, जिसके बारे में यूजर को भनक तक नहीं लगती और जिससे आपकी प्राइवेसी को खतरा है। सिर्फ यही नहीं बूढ़ा कर देने वाली इस FaceApp ने अमेरिका की टेंशन भी बढ़ा दी है। 

एक रशियन डिवैलपर्स ने बनाई है यह फेसएप

बहुत ही कम लोग जानते हैं कि, फेसएप को रशियन डिवैलपर्स द्वारा तैयार किया गया है और इस एप को वर्ष 2017 में लॉन्च किया गया था, और अब इतने वर्षों के बाद पिछले कुछ दिनों से यह एप अपने ओल्ड फिल्टर की वजह से वायरल हो गई है। साथ ही सोशल मीडिया पर फिल्म स्टार से लेकर क्रिकेट्स, फुटबॉलर्स और’ कई अन्य सिलेब्रिटीज़’ की बुढ़ापे वाली तस्वीरे वायरल’ हुई हैं। अबतो हालत यह हो गई है कि, फेसबुक पर लोगों की पूरी टाइमलाइन’ बुढ़ापे वाली फोटो से भरी हुई नजऱ आ रही हैं।

रशियन एप पर उठाए अमरीका ने ये सवाल, FBI को भी जांच करने के लिए कहा

रशिया की इस एप को लेकर अमरीका ने यूजर की प्राइवेसी और सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं और अमरीकी सीनेट के अल्पसंख्यक नेता चक शूमर ने एफबीआई-FBI और फेडरल ट्रेड कमीशन को एक पत्र भेजकर इस एप की जांच की मांग की है और इस एप को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा भी बताया गया है, क्योंकि इसे रूस ने तैयार किया है और इस एप के जरिए हैकर्स की पहुंच लाखों अमरीकी नागरिकों के फोन तक हो गई है, जिससे राष्ट्रीय सुरक्षा’ के साथ खिलवाड़’ हो सकता है।

किस तरह काम करती है FaceApp

FaceApp AI यानी ‘आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस’ तकनीक की मदद से व्यक्ति को जवान या बूढ़ा दिखाती है, लेकिन इसके लिए यह आपसे फोन के डाटा की परमिशन ले लेती है और iOS या एंड्रॉयड स्मार्टफोन पर इस App के जरिए तस्वीर को क्लिक करने के बाद’ यह उसे अपने सर्वर पर सेव कर देती है जिसके बाद एप द्वारा इस पर फिल्टर लगाए जाते हैं।

कैसे मंडरा रहा है यूजर की प्राइवेसी पर खतरा

यह बूढ़ा करने वाली फेसएप डाटा को अपने सर्वर में सेव करती है, जिसका इस्तेमाल भविष्य में सार्वजनिक’ रूप से किया जा सकता है कुर एप की पॉलिसी से पता लगता है कि, यह आपके डाटा का इस्तेमाल टेलिमार्केटिंग और ऐड्स दिखाने के लिए भी कर सकती है।

फेसएप ने इसपर क्या दी है प्रतिक्रिया

फेसएप ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि, कम्पनी को कई यूजर्स की रिकवैस्ट मिलीं है, जिनमें उन्होंने अपने डाटा को कम्पनी के सरवर से रिमूव करने की बात कही है लेकिन ‘फेसएप’ डाटा को रशिया में ट्रासफर नहीं कर रही है। वहीं डाटा की सारी प्रोसैसिंग कलाउड सर्वर पर की जाती है और हम सिर्फ उसी फोटो को अपलोड करते हैं, जो एप से खुद क्लिक की गई हो। अपलोड की तारीख’ के 48 घंटों के भीतर ही ‘फोटो’ को हम अपने सरवर से ‘डिलीट’ कर देते हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here