भाजपा ने किया घोषणापत्र जारी, किसानों के लिए शून्य ब्याज दर व पेंशन जैसे किये केई बड़े ऐलान

98

सोमवार को जारी भाजपा के घोषणापत्र में किसानों के कल्याण को भी ध्यान में रखा गया है और किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को 2022 तक पूरा करने की बात कहते हुए हर संभव प्रयास करने का भरोसा जताया है वहीँ किसान कल्याण नीति के तहत पिछले दिनों लागू की गई प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का दायरा बढ़ाने के साथ ही कृषि सहयोगी क्षेत्रों के विकास और पर्याप्त अवसर मुहैया कराने पर ध्यान दिया गया है। 

बता दें किसानों के लिए क्या खास है घोषणापत्र में-

  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत देश के किसानों को छह हजार रुपए प्रतिवर्ष दिए जाएंगे।
  • सभी छोटे और सीमांत किसानों के लिए 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन की योजना लागू की जाएगी। 
  • सरकार उत्पादकता बढ़ाने के लिए कृषि-ग्रामीण क्षेत्र में 25 लाख करोड़ रुपए निवेश यानी खर्च करेगी।
  • किसानों को एक से पांच साल के लिए शून्य फीसदी ब्याज पर एक लाख रुपये तक का कर्ज मिलेगा। इसमें मूल राशि के समय पर भुगतान की शर्त होगी।
  • 2022 तक सिंचाई की लगभग सारी लंबित परियोजनाएं पूरी की जाएंगी।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों का जोखिम यानी खतरे को कम करने के लिए उनके स्वैच्छिक पंजीकरण का प्रावधान होगा।
  • कृषि उत्पादों के आयात को कम करने और निर्यात को बढ़ावा देने की दिशा में कार्य किया जाएगा।
  • कुशल कृषि मूल्य श्रृंखला के लिए मजबूत भंडारण और लॉजिस्टिक्स नेटवर्क बनाया जाएगा।
  • जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए ई-कॉमर्स पोर्टल भी शुरू करने के साथ कई बड़े कदम उठाए जाएंगे।

इसके अलावा बीजेपी के इस घोषणापत्र में किसानों के कल्याण के लिए सिंचाई का विस्तार, पशुपालन, नीली क्रांति, राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन और शहद मिशन की शुरूआत, सहकारी संसथाएं और किसान उत्पादक संगठन को मजबूत करने की बात भी की गई है। 

बीजेपी सरकार ने कृषि और प्रौद्योगिकी को साथ लाने की बात करते हुए मोबाईल पर आधारित प्रणाली तैयार करने की घोषणा की है और देश के किसानों की सबसे बड़ी समस्या यानी उचित मूल्य और बाजार की उपलब्धता, के समाधान के लिए भाजपा ने अपने घोषणापत्र में तकनीक के उपयोग और भूमि रिकॉर्ड के डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने की बात भी कही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here