मंहत नरेन्द्र गिरी की मौत के मामले में उनके शिष्य आनंद गिरी के खिलाफ मुकदमा दर्ज

लखनऊ। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष मंहत नरेन्द्र गिरी की मौत के मामले में उनके शिष्य आनंद गिरी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। पुलिस प्रवक्ता ने ये जानकारी देते हुए बताया कि बंधवा स्थित हनुमान मंदिर के व्यवस्थापक अमर गिरी की तरफ से सोमवार देर रात दी गयी तहरीर के आधार पर  जार्जटाउन थाने में  आनंद गिरी के खिलाफ भारतीय दण्ड संहिता की धारा 306 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। उनके खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया गया है। वहीं बताया जा रहा है कि पुलिस के हाथ कई अहम सुराग लगे।

उन्होंने बताया कि तहरीर में अमर गिरी ने महंत और उनके शिष्य के बीच विवाद की बात का जिक्र किया है। तहरीर में घटनाक्रम का भी उल्लेख किया गया है।  नरेन्द्र गिरि के सुसाइडनोट में अनंद गिरी के अलावा हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी अद्या प्रसाद और उनके बेटे संदीप पर भी परेशान करने का आरोप है। तहरीर में केवल आनंद गिरी पर ही आरोप लगाया गया है। पुलिस का कहना है कि सुसाइड नोट और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
 इस मामले में आनंद गिरी को उत्तराखंड पुलिस ने सोमवार को श्यामपुर कांगड़ी स्थित उनके आश्रम से हिरासत में लिया जबकि रात में ही पुलिस ने मंदिर के मुख्य पुजारी, आद्या प्रसाद उनका बेटा संदीप को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

गौरतलब है कि परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी की सोमवार शाम को अल्लापुर स्थित बाघम्बरी गद्दी मठ में संदिग्ध स्थिति में मृत्यु हो गयी थी। उनका शव मठ के कमरे में पंखे से लटका मिला था। मौके से पुलिस को आठ पेज का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ था। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने महंत नरेंद्र गिरी को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि नरेंद्र गिरी को समाधी कल दी जाएगी। जांच के लिए टीम गठित है जो दोषी होगा उस पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। अनावश्यक बयान बाज़ी से लोग बचे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here