मुख्तार के दो शूटर पुलिस मुठभेड़ में ढेर

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने एक सशस्त्र मुठभेड़ में माफिया सरगना एवं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) विधायक मुख्तार अंसारी के दो शूटरों को मार गिराया है।
एसटीएफ ने गुरूवार को विज्ञप्ति जारी कर यह सूचना दी। पुलिस के अनुसार झारखंड के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता जीतराम मुंडा की हत्या का आरोपी शेरअली और उसके साथी कामरान उर्फ बन्ने को लखनऊ के मड़ियांव इलाके में बुधवार रात एक संक्षिप्त मुठभेड़ में मार गिराया गया। आजमगढ़ निवासी दोनो शूटर मुख्तार गैंग से ताल्लुक रखते थे और शेर अली की गिरफ्तारी पर पुलिस ने एक लाख रूपये का इनाम घोषित कर रखा था।
उन्होने बताया कि एक सूचना के आधार पर एसटीएफ ने घैलापुल से फैजुल्लागंज के रास्ते पर नाकाबंदी की और वहां से गुजर रहे बदमाशों को आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी मगर दोनो ने पुलिस पर फायर करते हुये भागने का प्रयास किया मगर मोटरसाइकिल फिसलने से वे गिर पड़े। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दोनो शूटर गंभीर रूप से घायल हो गये जिन्हे अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उन्हे मृत घोषित कर दिया।
आजमगढ़ में करीब डेढ़ दर्जन मामलों में वांछित शेर अली ने हाल ही में झारखंड की राजधानी रांची में भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष जीतराम मुंडा की गोली मार कर हत्या कर दी थी। पूर्वांचल में दहशत का पर्याय बना शेरअली पहले भी हत्या के आरोप में वांछित था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here