रैली में फूट-फूट कर रोए आज़म खान, बोले- सरकार का वश चले तो मुझे गोली मार दे – वीडियो हो रहा वायरल

87

जयाप्रदा पर दिए गए विवादित बयान के बाद लगे बैन के बाद एक बार फिर समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान चुनाव प्रचार करने में लग गए हैं।

इसी सिलसिले में आज़म खान रामपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए फूट-फूट कर रोने लगे। साथ ही उन्होंने प्रशासन पर आरोप लगाया कि प्रशासन उनके साथ आतंकियों जैसे सलूक कर रही है। उनके समर्थकों और परिचितों को परेशान कर रही है।

आजम खान ने रोते हुए कहा कि मेरे साथ ऐसा सलूक हो रहा है, जैसे मैं दुनिया का सबसे बड़ा आतंकवादी हूं, देशद्रोही हूं। सरकार का वश चले तो मुझे गोलियों से छलनी करवा दे।’ 

आजम खान ने कहा कि ‘मैं सरकार से और उसके प्रशासन से कहना चाहता हूं कि मेरे घर के दरवाजे तोड़ दो, मुझे गोली मारो, मुझे मार दो ताकि चुनाव से पहले ही ये किस्सा खत्म हो जाए। मेरा जीना जमीन के लिए बोझ बन गया है। मुझे मार कर खत्म कर दो, मुझे नहीं लडऩा चुनाव। मैं जुल्म से नहीं घबराऊगा, लेकिन कमजोरों के साथ जुल्म करोगे तो मुझसे बर्दाश्त नहीं होगा। भाषण के दौरान यह कहते हुए आजम रोने लगे और बोले मैं पूरे रास्ते रोता हुआ आया हूं. मैं क्या कर सकता हूं। बस यही मेरा अपराध है कि मैंने आपके बच्चों की किस्मत संभालने की कोशिश की। ‘

आजम खान ने यह भी आरोप लगाया कि रामपुर को छावनी में बदल दिया गया है। उन्होंने कहा कि यह किस तरह का लोकतंत्र है, जहां रामपुर में प्रशासन ने आतंक का राज फैलाया है। मझसे प्यार करने वाले और मेरे झंडे उठाने वालों के घरों के ताले तोड़े गए और उनके परिवारों की महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार किया गया।

बता दें कि, आजम खान के खाकी अंडरवियर वाले बयान के बाद उन्हें चुनाव आयोग ने 72 घंटे के लिए चुनावी रैली करने से बैन कर दिया था। मालूम हो कि रामपुर लोकसभा सीट पर तीसरे चरण में 23 अप्रैल को चुनाव होना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here