श्री राम के स्वरूप में रक्त दान करके एक कलाकार ने जनता को रक्त दान से बड़ा कोई दान नही है!

मुज़फ्फरनगर: जहा पूरे देश मे आज दशहरा पर्व बड़ी धूम धाम के साथ मनाकर असत्य पर सत्य की जीत का संदेश पूरी दुनिया मे गया ।वही मुज़फ्फरनगर में एक राम लीला में रावण का वध करने के बाद श्री राम का पाठ कर रहे एक कलाकार जिला चिकित्सालय पहुँच गए जहां उन्होंने अपना रक्त दान कर एक बड़ा सन्देश दुनिया के नाम दिया है ।भगवान श्री राम के स्वरूप में रक्त दान करके एक कलाकार ने जनता को रक्त दान से बड़ा कोई दान नही है ये सन्देश देकर लोगो को रक्त दान के लिए जागरूक किया है। इस कलाकार के इस कदम की चारो ओर प्रशंसा हो रही है ।
दरअसल नई मंडी कोतवाली क्षेत्र में स्थित एसडी कन्या इंटर कॉलेज में दशहरे के पावन पर्व पर रामलीला का आयोजन किया गया था ।जिसमे भगवान श्री राम के स्वरूप का पाठ कर रहे एक कलाकार ने राम लीला सम्पात करते हुए रावण के वध के पश्चात माँ जानकी संग कार में सवार होकर जिला चिकित्सालय स्थित ब्लड बैंक पर पहुँच गए ।ब्लड बैंक में पहुँचकर भगवान राम का पाठ कर रहे कलाकार ने अपना रक्त दान किया रानी लोगो को भी रक्त दान के लिए प्रेरित किया। श्री राम के स्वरूप में कलाकार द्वारा अचानक ब्लड डोनेट कर समाज को जहा रक्त दान से बड़ा कोई दान नही है ये सन्देश दिया है वही भगवान के रूप में ब्लड डोनेट करने पहुँचे कलाकार के इस कदम की जहाँ चारो ओर प्रशंसा हो रही थी वही ब्लड डोनेट के बाद भगवान राम बना युवक चर्चा का विषय बना रहा ।


ब्लड डोनेट करने वाले कलाकार नीतीन ने कहा कि मेरा नाम नितिन है रामलीला गांधी कॉलोनी मंच से श्रीराम का पाठ कर रहा था सबसे पहले तो समर्पित युवा और सभी मीडिया प्रभारी यो का दिल से धन्यवाद करता हूं क्योंकि उन्होंने मुझे ब्लड डोनेशन के लिए इन्होंने रिडियूज किया और मैं समाज को यह मैसेज देना चाहता हूं कि हम ज्यादा से ज्यादा जागरूक हो ब्लड डोनेशन के लिए और हम अपनी हेल्थ को बढ़िया रखने के साथ-साथ किसी दूसरे की हेल्प का ध्यान रख सके यही इसके पीछे हमारे यही मोटिव है और ज्यादा से ज्यादा लोगों से यही अपील करता हूं कि लाइफ में कम-से-कम हर 3 महीने में एक बार ब्लड डोनेट जरूर करें उससे आपकी भी हाल अच्छी होगी और जिसको भी हुए ब्लड जाएगा उसकी भी हालत अच्छी होगी।

मुज़फ्फरनगर जहा पूरे देश मे आज दशहरा पर्व बड़ी धूम धाम के साथ मनाकर असत्य पर सत्य की जीत का संदेश पूरी दुनिया मे गया ।वही मुज़फ्फरनगर में एक राम लीला में रावण का वध करने के बाद श्री राम का पाठ कर रहे एक कलाकार जिला चिकित्सालय पहुँच गए जहां उन्होंने अपना रक्त दान कर एक बड़ा सन्देश दुनिया के नाम दिया है ।भगवान श्री राम के स्वरूप में रक्त दान करके एक कलाकार ने जनता को रक्त दान से बड़ा कोई दान नही है ये सन्देश देकर लोगो को रक्त दान के लिए जागरूक किया है। इस कलाकार के इस कदम की चारो ओर प्रशंसा हो रही है ।
दरअसल नई मंडी कोतवाली क्षेत्र में स्थित एसडी कन्या इंटर कॉलेज में दशहरे के पावन पर्व पर रामलीला का आयोजन किया गया था ।जिसमे भगवान श्री राम के स्वरूप का पाठ कर रहे एक कलाकार ने राम लीला सम्पात करते हुए रावण के वध के पश्चात माँ जानकी संग कार में सवार होकर जिला चिकित्सालय स्थित ब्लड बैंक पर पहुँच गए ।ब्लड बैंक में पहुँचकर भगवान राम का पाठ कर रहे कलाकार ने अपना रक्त दान किया रानी लोगो को भी रक्त दान के लिए प्रेरित किया। श्री राम के स्वरूप में कलाकार द्वारा अचानक ब्लड डोनेट कर समाज को जहा रक्त दान से बड़ा कोई दान नही है ये सन्देश दिया है वही भगवान के रूप में ब्लड डोनेट करने पहुँचे कलाकार के इस कदम की जहाँ चारो ओर प्रशंसा हो रही थी वही ब्लड डोनेट के बाद भगवान राम बना युवक चर्चा का विषय बना रहा ।
ब्लड डोनेट करने वाले कलाकार नीतीन ने कहा कि मेरा नाम नितिन है रामलीला गांधी कॉलोनी मंच से श्रीराम का पाठ कर रहा था सबसे पहले तो समर्पित युवा और सभी मीडिया प्रभारी यो का दिल से धन्यवाद करता हूं क्योंकि उन्होंने मुझे ब्लड डोनेशन के लिए इन्होंने रिडियूज किया और मैं समाज को यह मैसेज देना चाहता हूं कि हम ज्यादा से ज्यादा जागरूक हो ब्लड डोनेशन के लिए और हम अपनी हेल्थ को बढ़िया रखने के साथ-साथ किसी दूसरे की हेल्प का ध्यान रख सके यही इसके पीछे हमारे यही मोटिव है और ज्यादा से ज्यादा लोगों से यही अपील करता हूं कि लाइफ में कम-से-कम हर 3 महीने में एक बार ब्लड डोनेट जरूर करें उससे आपकी भी हाल अच्छी होगी और जिसको भी हुए ब्लड जाएगा उसकी भी हालत अच्छी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here