स्वास्थ्य कर्मियों को कुशल बनाने की पहल

107

दिल्ली: एचएसएससी ने हाल ही में भारत में अपने ट्रेनिंग ऑफ ट्रेनर्स (टीओटी) कार्यक्रमों को सफलतापूर्वक आयोजित किया। प्रशिक्षण कार्यक्रम केरल, चेन्नई, उत्तर प्रदेश, नई दिल्ली और बिहार सहित देश भर के विभिन्न स्थानों में भी आयोजित किया गया था। देश भर में 10 दिनों के इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में 226 से अधिक प्रशिक्षकों ने भाग लिया। यह प्रशिक्षण जनरल ड्यूटी असिस्टेंट, मेडिकल रिकॉर्ड्स और हेल्थ इंफार्मेशन टेक्नीशियन, इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन – बेसिक, होम हेल्थ एड, फार्मेसी असिस्टेंट, मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नीशियन, फ्लेबॉटमी टेक्नीशियन, ब्लड बैंक टेक्नीशियन, ऑपरेटिंग थियेटर टेक्नीशियन, विजन टेक्नीशियन, रिफ्रैक्शनिस्ट, रेडियोलॉजी टेक्नीशियन, एक्स-रे टेक्नीशियन और डायलिसिस टेक्नीशियन सहित कार्य से संबंधित कई भूमिकाओं के लिए आयोजित किया गया था।

टीओटी लखनऊ, उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री आरोग्य मित्र (पीएमएएम) के लिए प्रशिक्षकों को प्रशिक्षित करने के लिए एनएचए (राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण) के सहयोग से भी आयोजित किया गया था। पीएमएएम के लिए प्रमाणित प्रशिक्षक देश में प्रधानमंत्री आरोग्य मित्र (पीएमएएम) के लिए प्रशिक्षण आयोजित करेंगे जिससे देश में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएम-जेएवाई) के कार्यान्वयन को बढ़ावा मिलेगा।

एचएसएससी कीे अध्यक्षा डॉ.शबनम सिंह ने कहा कि, ‘‘दुनिया भर में और भारत में स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार किया जा रहा है। हमें अभी भी सभी के लिए एक पर्याप्त स्वास्थ्य प्रणाली स्थापित करने के लिए लंबा रास्ता तय करना है। अच्छी तरह से प्रशिक्षित हेल्थकेयर प्रोफेशनलों की मांग में तेजी से वृद्धि हो रही है, जिसके कारण प्रशिक्षकों का क्षमता निर्माण एक उभरती हुई चुनौती है और इसलिए योग्य और प्रमाणित प्रशिक्षक की महत्वपूर्ण और मौलिक भूमिका को पहचानना महत्वपूर्ण है। ऐसे प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रशिक्षकों के प्रशिक्षण कौशल को बढ़ाकर प्रशिक्षकों के प्रशिक्षण और विकास की आवश्यकता को पूरा करते हैं।’’

प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्देश्य शिक्षण सत्रों को सुविधाजनक बनाने और मूल्यांकन के माध्यम से अपने अभ्यास में सुधार करने के लिए स्वयं-प्रशिक्षण, सुविधा और शिक्षण के तौर-तरीकों को विकसित करना और बढ़ाना है। एचएसएससी ने इस वर्ष पूरे भारत में 40 से अधिक ऐसे प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए हैं। पूरे भारत में 1500 से अधिक उम्मीदवारों का मूल्यांकन किया गया है और प्रशिक्षक के रूप में प्रमाणित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here