442 करोड़ से हस्तिनापुर में कराए विकास कार्य : दिनेश खटीक

मेरठ। महाभारत कालीन नगरी हस्तिनापुर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक दिनेश खटीक ने साढ़े चार साल के कार्यकाल में खूब विकास कार्य कराए। विधायक का कहना है कि हस्तिनापुर क्षेत्र में 442 करोड़ रुपए से विकास कार्य हुए। सड़कों के निर्माण से लेकर शिक्षण संस्थाओं का निर्माण, गंगा नदी पर कटान से बचाव के उपाय कराए। क्षेत्र के युवाओं की वर्षों पुरानी स्टेडियम बनाने की मांग को भी पूरा कराया जाएगा।

हस्तिनापुर विधानसभा सीट से विधायक दिनेश खटीक ने साढ़े चार साल के कार्यकाल पर हिन्दुस्थान समाचार के प्रतिनिधि डॉ. कुलदीप त्यागी से विशेष बातचीत में कहा कि क्षेत्र में सड़कों पर विशेष रूप से कार्य किया गया। फतेहपुर प्रेम समेत कई स्थानों पर तटबंध बनवाकर बाढ़ के खतरे को कम कराया। गंगा नदी में सवा चार लाख क्यूसेक पानी छोड़ने के बावजूद इस बार कहीं भी कटान नहीं हुआ। गंगा नदी पर 157 करोड़ रुपए की लागत से चेतावाला पुल का निर्माण कराए जाने से मेरठ और बिजनौर के बीच की दूरी कम हुई है।

विधायक ने कहा कि 12 करोड़ रुपए की लागत से नगर पालिका व नगर पंचायतों में विकास कार्य कराए। हस्तिनापुर, बली गांव समेत कई स्थानों पर तीन डिग्री कॉलेज और इंटर कॉलेजों का निर्माण शुरू कराया। युवाओं के लिए स्टेडियम निर्माण कराने के लिए जगह का चिन्हांकन कर प्रस्ताव तैयार कराकर लखनऊ भिजवा दिया है। चीनी मिल 20 अक्टूबर तक हर हाल में चल जाएगी। चीनी मिल में पेराई शुरू होने से पहले ही किसानों का बकाया गन्ना भुगतान कराया जाएगा। विधानसभा क्षेत्र के पांच संपर्क मार्गों के चौड़ीकरण की प्रक्रिया शुरू कराई गई है।

विधायक दिनेश खटीक का कहना है कि मवाना में मध्य गंग नगर पर 05 करोड़ की लागत से पुल का निर्माण कराया जाएगा। मवाना में फायर स्टेशन का निर्माण कराने के साथ ही आवासों का निर्माण कराया। रामराज सड़क का निर्माण कराने के साथ 131 सड़कों का जीर्णोद्धार और लेपन का कार्य कराया।

विधायक ने कहा कि हस्तिनापुर में रेलवे लाइन की मांग को लेकर जल्दी ही हस्तिनापुर से लखनऊ तक यात्रा निकाली जाएगी। स्टेडियम की पुरानी मांग को पूरा कराने का प्रयास किया जाएगा।

प्रदेश की योगी सरकार विकास कार्य कराने में लगी है, जबकि विपक्षी दल जनता का ध्यान भटकाने की मुहिम में लगे हैं। जाति और धर्म के मामलों में लोगों को बरगला कर राजनीति चमकाने की जुगत में है, लेकिन प्रदेश की जनता समझदार है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरी तरह से विकास कार्यों को समर्पित है। उनके नेतृत्व में पूरे प्रदेश का विकास हो रहा है। प्रत्येक क्षेत्र में उप्र अव्वल साबित हो रहा है। बेरोजगारी दूर करने के लिए योगी सरकार दूरगामी योजनाओं पर काम कर रही है।

विपक्षी दलों की तोड़फोड़ करने वाली राजनीति को विकास कार्यों के जरिए जवाब दिया जा रहा है। 2022 में भाजपा को 350 से अधिक सीटें मिलेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सबको साथ लेकर विकास कार्य किए जा रहे हैं।

भ्रष्टाचार पर प्रदेश सरकार जीरो टोलरेंस की नीति अपना रही है। प्रदेश सरकार के साढ़े चार साल के कार्यकाल में एक भी दंगा नहीं हुआ। अखिलेश यादव ट्विटर की राजनीति कर रहे हैं। उन्हें प्रदेश की वास्तविक स्थिति का पता नहीं है। ओवैसी के आने और गठबंधन का भाजपा के सफर पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here